Shankh Bajane Ke Fayde – नियम और लाभ

5/5 - (1 vote)

नमस्कार दोस्तों, itihaaspedia.info में आपका स्वागत है. आज हम बात करने वाले है shankh bajane ke fayde के बारे में कि shankh bajane ke kya fayde है और ghar me shankh bajane ke fayde और क्या लाभ मिलता है. अगर आप shankh bajane ke fayde in hindi की पूरी जानकारी चाहते है तो इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़े

अक्षर समुन्द्र और नदियों के किनारे बहुतायत मात्रा में मिलने वाले शंख को सभी लोग बहुत पसंद करते है, परन्तु क्या आप जानते है कि शंख की उत्पत्ति कैसे हुई और अधिकाधिक संख्या में पाये जाने वाले इन शंखो का इतिहास क्या है तथा क्या है इनका महत्व एवं महिमा?

आईए, हम जाने कि आख़िरकार इन शंखो की अद्भुत कलात्मकता भरी-भरी सुंदरता का राज क्या है. कहाँ से आये है ये शंख ! इनका हमारे जीवन में कितना अधिक महत्व है !

शंख का महत्त्व (shankh ka mahtav)

हालाँकि शंख का महत्व आज से नहीं बल्कि कई वर्षो पहले से ही है, पर जहाँ तक प्रश्न शंख की उत्त्पत्ति का है, तो कहा जाता है कि सबसे पहले फ्रांस की पुरानी ‘करो मेगनन’ नाम की दुर्लभ गुफाओं में विभिन्न प्रकार के शंखो के मिलने की पुष्टि हुई है 

शंख मानवों तक कैसे पहुंचे

आश्चर्य की बात तो यह है कि यहाँ पाए जाने वाले समस्त शंख ऐसे है, जो केवल हिन्द महासागर के अलावा अन्य किसी स्थान पर पाए ही नहीं जाते। इस बारे में इतिहासकारों की राय है कि हजारों वर्ष पूर्व शंखो का अंतराष्ट्रीय मेला लगता था, जिसमे व्यापारी लोग इन शंखो को कड़ी मेहनत व लगन से हिन्द महासागर के तटवर्ती छेत्रों से फ़्रांस में लाकर बेचते थे. इसी कारण यह शंख सागरों से निकलकर मानवों तक आ पहुंचने में सफल हो सके है 

वैसे तो प्राचीन काल में लोग शंख को बहुत अधिक पसंद करते थे लेकिन समय के साथ-साथ इनके प्रति आजकल के लोगों में भी विसेष आकर्षण देखने को मिलता है. आज की तारीक में न सिर्फ स्त्रियाँ ही हाथ में शंख के बने आभूषण पहन रही है, अपितु बाएं से पकड़ने वाले शंख को भी काफी शुभ मानकर घरों में पूजा-स्थल पर विद्यमान कर रहे है 

इन शंखो की अद्भुत सुंदरता ने देवी-देवताओं को तो प्रशनचित कर ही रखा है, साथ ही मानव-जाति का भी अपने से लगाव लगा रखा है 

शंख की खोज (shankh ki khoj)

यघपि यह शंख एक वाघ-यंत्र है परन्तु सच्चाई यही है कि समुद्र में पाए जाने वाले एक जीव का एकमात्र खोल है जो कि काफी कठोर होता है. जंतु-वैज्ञानिक इस बारे में कहते हैं कि समुंदर के किनारे हजारों की गिनती में मिलने वाले शंख की प्रजाति के जितने अधिक जीव पाए जाते हो. उनके अनुसार इनके डिजाइनों में ना केवल विविधता होती है बल्कि यह मन मोहकता से परिपूर्ण भी होते हैं

शायद यही कारण रहा होगा कि कोलंबस जैसे विश्व प्रसिद्ध यात्री का समुद्री यात्राओं के दौरान शंखो का पानी में रंग बिरंगा झिल मिलाना इतना अधिक अच्छा लगा कि उसने शंखो का बहुत अधिक मात्रा में संग्रह कर डाला। फल स्वरूप, कोलंबस को एकत्रित करते देख इंग्लैंड, राम और हालेण्ड  जैसे देशों में भी सुंदरता से परिपूर्ण शंखो की प्रति विश्वव्यापी अभिरुचि बढ़ी 

कहते हैं कि शंखो की खोज के दौरान एक हवाई द्वीप की खोज की गई है. इसके अतिरिक्त कोई दुर्लभ शंख भी बड़ी मात्रा में खोज निकाले गए, जिन्हें ब्रिटिश सरकार ने आज भी सुविधा पूर्वक अपने संग्रहालय में सहेज कर रखा है

यह बताना अप्रसांगिक नहीं होगा कि कुछ दिनों पहले ‘ग्लोरी ऑफ द सी’ नामक शंख $2000 का नीलाम हुआ है, जिसकी लंबाई मात्र 5 इंच आंकी गई है.इस शंख की कलात्मकता भी बहुत अधिक अद्भुत व अद्वितीय है 

और तो और, फिजी द्वीप का ‘सुनहरी कौड़ी’ व बंगाल की खाड़ी का ‘लिस्टर शंख’ भी मूल्यवान है.इन शंखो की कीमत लगभग $2000 से भी कहीं अधिक है

शंख कहाँ से ख़रीदे (shankh kaha se kharide)

shankh bajane ke fayde
Image Credit – Amazon

हिन्दू धर्म में शंख की महत्वता (Hindu dharm me shankh ki mahtvata)

अब न शंख हिन्दू धरम में संलगन रह गए है, अपितु संस्कृति, सभ्यता, मनोविज्ञान चिकित्सा के अलावा आयुर्वेद जैसे में भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं. हिंदू धर्म में जहां शंख को सबसे पवित्र समझा जाता है, वहीं अमेरिका के डॉक्टर विलियम कैप व अल्फ्रेड आसबिमर ने शंख को मनोविज्ञान इतने महत्वपूर्ण माना है. 

उनके शब्दों में, ‘जीवन से निराश हो चुके एवं बुरी तरह परेशान हो गए लोगों को शंख संग्रह दिखाना एक रामबाण औषधि से कम नहीं है.इससे उन्हें मानसिक शांति मिलती है.’

शंख बजाने के लाभ (shankh bajane ke labh)

जबकि हिंदू धर्म में मान्यता है कि पूजा अर्चना के समय शंखनाद ग़ुज़ाना शुभ है. इस प्रकार के शंखनाद से दूर-दूर तक वातावरण शुद्ध व सुखमय हो जाता है और समस्त कीड़े मकोड़े दूर भाग जाते हैं

यही नहीं, चिकित्सा के क्षेत्र में कैलिफोर्निया में पाए जाने वाले एक विशेष प्रकार के घेंघे से ज्वर तथा स्टेप्टोकोरा नामक घातक बीमारी का सफल इलाज तक किया जाता है. रही बात आयुर्वेद की, उनके अनुसार शंख का अमाशय संबंधी विकारों के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है.

इस प्रकार, शंख आज हरेक क्षेत्र में अपनी महत्वपूर्ण उपस्थिति दर्ज करा कर मूल्यवान वस्तु होने का संकेत देता है. अब देखना यह है कि मानव जाति इसका कितना उपयोग निजी जीवन में कर पाती है

यह भी पढ़े

अंतिम तथ्य

आशा करता हूँ आपको शंख बजाने के नियम और shankh bajane ke fayde के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर आप ऐसी ही रोचक जानकारी पाना चाहते हो तो हमें subscribe कर सकते है

Akbloggerteam writes multi-category articles to itihaaspedia.info

Sharing Is Caring:

Leave a Comment